सोमवार, फ़रवरी 07, 2011

सन्तोष

तुम एक बड़ी मछली हो
तुम सिर्फ एक बड़ी मछली हो
तुम्हें चिन्ता है
तुम सबसे बड़ी मछली नहीं हो।

मैं एक छोटी मछली हूँ
मैं सिर्फ एक छोटी मछली हूँ
मगर
मैं अकेली छोटी मछली नहीं हूँ।

4 टिप्‍पणियां:

  1. छोटी मछली ने बहुत बड़ी बात समझा दी , बड़ी कों !

    उत्तर देंहटाएं
  2. भावों में गहराई है
    मछली के माध्यम से
    बात समझाई है.
    सुन्दर कविता की
    आपको बधाई है.

    उत्तर देंहटाएं
  3. उफ़...
    क्या खूब पोस्टर कविता है....

    उत्तर देंहटाएं